Press "Enter" to skip to content

जी. एन. आई. ओ. टी. तकनीकी संस्थान में ‘निर्माण आईएएस’ के डायरेक्टर कमलदेव सिंह ने विद्यार्थियों को दिए सफलता का मंत्र

जी. एन. आई. ओ. टी. तकनीकी संस्थान (ग्रेटर नोएडा) में ‘करियर उत्कृष्टता’ पर वार्तालाप हेतु एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ संस्थान के चेयरमैन राजेश गुप्ता, मुख्य अतिथि हरीश चंद्रा (डी. सी. पी. नोएडा) , कमलदेव सिंह ( निदेशक, निर्माण आईएएस संस्थान, मुखर्जी नगर, नई दिल्ली) , स्वदेश सिंह ( सी. ई. ओ. GIMS ), डॉ. धीरज गुप्ता (जी. एन. आई. ओ. टी. तकनीकी संस्थान) ने सरस्वती वंदना के साथ कार्यक्रम का आरंभ किया।

निर्माण आईएएस अकादमी के डायरेक्टर कमलदेव सिंह ने विद्यार्थियों को सफलता का मंत्र देते हुए बताया कि “निर्माण आईएएस अकादमी में आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा । प्रतियोगी छात्रों के लिए टाइम मैनेजमेंट सबसे अहम भूमिका निभाता है।”

उन्होंने विद्यार्थियों को सफलता के गूढ़ और आसान रहस्य बताते हुए तीन A.A.A. के नियमों पर चलने की जरूरत बताई, पहला A. जिसका अर्थ है Aim लक्ष्य स्प्ष्ट होना चाहिए। दूसरे A. का तात्पर्य Action से है अर्थात हमारा प्लान तैयार होना चाहिए। वहीं तीसरे A. का तात्पर्य Attitude से है जो कि सकारात्मक होना चाहिए।

कमलदेव सर ने बताया कि सिविल सेवा में सफल होने वाले 50 से 60% स्टूडेंट्स इंजीनियरिंग बैकग्राउंड के होते हैं ।
निर्माण आईएएस ने लगातार प्रतिवर्ष अनेकों सफल अभ्यर्थियों का मार्गदर्शन किया है । निर्माण आईएएस संस्थान के विद्यार्थियों ने सफलता के नए प्रतिमान स्थापित किए हैं। UPSC के 2021 के अंतिम रिजल्ट में चयनित हिन्दी माध्य्म से टॉपर रवि सिहाग के साथ 50 से अधिक विद्यार्थी निर्माण आईएएस से सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं।

जी. एन. आई. ओ. टी. तकनीकी संस्थान के चेयरमैन राजेश गुप्ता ने मुख्य अतिथि हरीश चंद्रा एवं कमलदेव सिंह का विशेष आभार प्रकट किया और सभी विद्यार्थियों को अधिक से अधिक सिविल सेवा परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने भविष्य में निर्माण आईएएस अकादमी और जी. एन. आई. ओ. टी. तकनीकी संस्थान के साझा मंच (कॉमन प्लेटफार्म) पर आने के स्प्ष्ट संकेत दिए । जिससे विद्यार्थियों को अधिक से अधिक गुणवत्तापूर्ण मार्गदर्शन प्राप्त हो सके।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.